यूपी भूलेख 2022 ऑनलाइन, खसरा खतौनी नकल: Uttar Pradesh Bhulekh @upbhulekh.gov.in

Uttar Pradesh Bhulekh Online Land Records Verification |  उत्तर प्रदेश भूलेख ऑनलाइन खतौनी नकल | Uttar Pradesh Bhulekh Nakal | UP Bhulekh Khasra Khatauni |

उत्तर प्रदेश भूलेख, भूमि रिकार्ड से जुड़ी जानकारियों को ऑनलाइन करने के लिए राजस्व विभाग द्वारा ऑनलाइन वेब पोर्टल तैयार किया गया है| भारत का सबसे बड़ा राज्य उत्तर प्रदेश है, इसमें राज्य सरकार द्वारा जमीन के रखरखाव देखभाल और पूर्ण विवरण को ऑनलाइन देखने के लिए UP Bhulekh  नाम से वेबसाइट को बनाया गया है| भूलेख का हिंदी में बहुत से अर्थ होते हैं जैसे की भूमि अभिलेख, जमाबंदी, जमीन का विस्तृत व्योरा या भूमि से संबंधित सभी प्रकार की लिखित रूप में जानकारी। राज्य सरकार ने इस पोर्टल के माध्यम से भूमि से सम्बंधित कैसे प्रकार की सेवाएं प्रदान की है जैसे की अब कोई भी वयक्ति नाम से जान सकता है की उसके या किसके नाम पे कितनी जमीन है और साथ ही जमीन के कागजात और सारा विवरण ऑनलाइन सेवा के माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं। इस प्रकार से भूलेख में जमीन के मालिक की सारी जानकारी व उसके नाम विवरण दर्ज होता है|

UP Bhulekh

हमारे देश में भाषाओं की विभिन्नता होने के कारण भूलेख को भी अलग-अलग नामों से जाना जाता है, कुछ जगह से भूमि अभिलेख, कहीं जमाबंदी, कहीं अपना खाता के नाम से जाना जाता है | भूलेख यानी की जमीन का कागजात बहुत काम आता है, भूलेख शब्द का अर्थ जमीन का कागजात जिसमे भूमि से संबंधित लिखित रूप में जानकारी होती है और साथ ही उसमे जमीन का पूरा विवरण होता है। UP Bhulekh पोर्टल के माध्यम से राजस्व विभाग ने भूमि के सारे रिकॉर्ड और जमीन का सभी प्रकार का ब्यौरा कंप्यूटराइज्ड कर दिया गया है। अब लोग बिना किसी परेशानी के अपनी जमीन से जुड़ी जानकारी व विवरण को ऑनलाइन कैसे प्राप्त कर सकते हैं और जमीन का बंटवारा करने के लिए भूलेख का इस्तेमाल कर सकते हैं। जमीन के कागजात के द्वारा आप आसानी से किसी भी बैंक से से लोन ले सकते हैं। तथा फसल बीमा ले सकते हैं।

उत्तर प्रदेश भूलेख की आधिकारिक वेबसाइट के बारे में

इस पोर्टल से आप अपनी जमीन की जानकारी ऑनलाइन निकाल कर के उसे सरकारी व गैर सरकारी कामों में उपयोग कर सकते हैं | और इससे आप अपनी जमीन पर मालिकाना हक जमा सकते हैं क्योंकि सरकार द्वारा समय-समय पर पकी जमीन का सारा विवरण को अपडेट किया जाता है| उत्तर प्रदेश भूलेख पोर्टल राज्य के निवासियों के लिए बहुत ही सुविधाजनक ,खसरा ,खतौनी ,भूमि का नक्शा, जमाबंदी और अपनी जमीन से जुड़ी हुई सारी जानकारी को बिना कहीं गए घर बैठे प्राप्त कर सकते हैं| इन जानकारियों को निकालने के लिए पहले लोगों को आवेदन पत्र लिखकर तहसील अथवा पटवारी के पास जमा करना पड़ता था| इसके बाद भी भूमि के विवरण मिलने में वक्त लगता था | लेकिन अब भूलेख पोर्टल से यह सारी जानकारी घर बैठे आराम से ऑनलाइन देखी जा सकती हैं|

UP Bhulekh के उद्देश्य

सरकार द्वारा इस पोर्टल को आम नागरिकों की सुविधा के लिए और जमीन का लेखा जोखा, खसरा, खतौनी की नकल , भूमि के रिकॉड को एक जगह व्यवस्थित व पारदर्शी रूप से रखने के लिए बनाया गया है| इस पोर्टल के बनने के बाद प्रदेश की लगभग सारी जमीन कंप्यूटराइज प्रणाली के तहत UP Bhulekh Portal मैं डाल दी गई है | इसका उद्देश है कि इस पोर्टल के बनने से उत्तर प्रदेश के आम जनता को अपनी जमीन का विवरण व जमीन से जुड़ी सारी जानकारियां और सम्पत्तियों के रिकॉर्ड आराम से आसानी से ऑनलाइन मिल पाए| और यहां आप नाम से जाने आपके पास कितनी जमीन है। अब स्वमित्व योजना के तहत सरकार जमीन पर मालिकाना हक के लिए भी इस ऑनलाइन सेवा का उपयोग कर रही है।

UP Bhulekh 2022 District Wise

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा उप खसरा खतौनी नाम अनुसार सभी जिलों के जमीन के रखरखाव व भूमि का ब्यौरा को ऑनलाइन कर दिया गया है।अतः आप यू पी के सभी जिलों की जानकारी खसरे की नकल आदि को ऑनलाइन प्राप्त कर सकते हैं। और आप इसकी सूची नीचे देखें –

 आगरा झाँसी
 अलीगढ़ कन्नौज
अम्बेडकर नगर कानपुर देहात
अमेठी कानपुर नगर
अमरोहा कासगंज
औरैया कौशाम्बी
अयोध्या खेरी
आजमगढ़ कुशीनगर
बागपत ललितपुर
बहराइच लखनऊ
Ballia Mahoba
बलरामपुर महाराजगंज
बाँदा मैनपुरी
बाराबंकी मथुरा
बरेली मऊ
बस्ती मेरठ
बिजनौर मिर्ज़ापुर
बदायूँ मुरादाबाद
बुलंदशहर मुजफ्फरनगर
चंदौली पीलीभीत
चित्रकूट प्रतापगढ
देवरिया प्रयागराज
एटा रायबरेली
इटावा रामपुर
फ़र्रूख़ाबाद सहारनपुर
फतेहपुर सम्भल
फ़िरोजाबाद संत कबीरनगर
गौतमबुद्ध नगर संत रविदास नगर
गाजियाबाद शाहजहाँपुर
ग़ाज़ीपुर शामली
गोंडा श्रावस्ती
गोरखपुर सिद्धार्थनगर
हमीरपुर सीतापुर
हापुड़ सोनभद्र
हरदोई सुल्तानपुर
हाथरस उन्नाव
जालौन वाराणसी
जौनपुर

भू अभिलेखों का कंप्यूटरीकरण

डिजिटलीकरण की प्रक्रिया के लिए प्रदेश सरकार ने यूपी भूलेख पोर्टल का आरंभ किया है। यूपी भूलेख पोर्टल के अंतर्गत सभी भू अभिलेखों का कंप्यूटरीकरण हो रहा है। इस आधिकारिक पोर्टल का निर्माण 2 मई 2016 को किया गया। अब इसके अंतर्गत प्रदेश के सभी तहसीलों पर अपना खाता खसरा नंबर की जानकारी उपलभ्ध है। अब दैनिक रूप से भू अभिलेखों की गतिविधियों को ऑनलाइन चलाया जाता है। प्रदेश के नागरिक अब इसके जरिये से भू अभिलेख की जानकारी, यु पी भू नक्शा, भू अभिलेख के मालिक की जानकारी, या भू अभिलेख डाटा को देख सकते हैं। डिजिटलीकरण के होने से अब प्रणाली में पारदर्शिता और उसके साथ पैसे व समय की भी बचत होगी।

यूपी भूलेख पोर्टल के लाभ

  • राजस्व विभाग के इस पोर्टल से राज्य के आम लोग अपना खाता को खसरा नंबर या जमाबंदी नंबर डालकर अपनी भूमि का नक्शा व ब्योरा प्राप्त कर सकते हैं|
  • उत्तर प्रदेश के नागरिकों को अब अपनी जमीन का पूर्ण विवरण घर बैठे ऑनलाइन मिल जाएगा|
  • इस यूपी भूलेख पोर्टल के शुरू होने से उत्तर प्रदेश के लोगों के समय की बचत हुई है|
  • अब उत्तर प्रदेश भूलेख की जानकारी ऑनलाइन प्राप्त हो जाएगी और लोगों को पटवारी या तहसील जाने की जरूरत नहीं है

यूपी भूलेख के भाग

जमाबंदी/फर्द- इसमें भूमि विवरण होता है जिसमे फसल विवरण, पट्टा विवरण, खसरा नंबर, कल्टीवेटर का नाम मालिक का नाम क्षेत्र, भूमि, आदि की जानकारी होती है।

खतौनी नंबर-  ऐसे खतौनी संख्या भी कहा जाता है जिसे की कल्टीवेटर की जानकारी होती है और यह बताता है की भिन्न खसरा संख्याओं किस में खेती हो रही है।

खसरा नंबर-  यह एक विशिष्ट प्लॉट संख्या होती है जिसे सर्वे संख्या भी कहा जाता है। यह नंबर सरकार द्वारा कृषि भूमि को दिखती है।
खाता/खेवट नंबर-  खेवट नंबर जिसे की खाता संख्या भी कहते हैं यह विभिन्न खसरा संख्या भूमि के हिस्से की जानकारी प्रदान करता है।

उत्तर प्रदेश भूलेख, जमाबंदी नक़ल, खसरा खतौनी ऑनलाइन कैसे देखे

रहने वाले लोगों की अपनी जमीन की विस्तृत जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो वह नीचे दिए गए चरणों का पालन करें |

  • सबसे पहले इच्छुक लाभार्थी को यूपी भूलेख पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा, Official Website पर विजिट करने के पश्चात आपके सामने पोर्टल में उपलब्ध ऑनलाइन सुविधाओं की सूची आ जाएगी
  • खतौनी की नकल देखने के लिए आपको खतौनी (अधिकार अभिलेख की नक़ल) के विकल्प पर क्लिक करना होगा| क्लिक करते ही नया पेज खुलकर सामने आएगा।
  • इसमें यह पेज पर आपको कैप्चा कोड दिखाई देगा जिससे कि आपको कहां भरना है. इसके पश्चात आप सबमिट का बटन दबा दें|
      • तत्पश्चात आते हो सामने वेबसाइट का एक नया खुलेगा इसमें आपको आपके जमीन की जानकारी जैसे कि अपना जिला चुने ,तहसील चुने, ग्राम चुने, खसरा /खतौनी नंबर या सर्वे नंबर या पट्टे की जानकारी का चयन करना होगा |
  • अपने जनपद का चयन करने के पश्चात आप अपने तहसील का चयन करें, उसके बाद आपको अपनी जमीन की जानकारी देनी होगी, जमीन की जानकारी निकालने के लिए बहुत से विकल्प मिलेंगे जैसे कि अपने खसरा /गाटा संख्या द्वारा खोजे ,खाता संख्या द्वारा खोजे ,खातेदार के नाम द्वारा खोजे या नामांतरण द्वारा खोजे |
  • आप इनमें से किसी भी विकल्प का चयन करके फिर आवश्यक विवरण दर्ज करें|
  • इसके बाद बटन पर क्लिक करने के पश्चात आपको अपनी जमीन से जुड़ी जानकारी क्यों आपकी वेबसाइट की स्क्रीन पर दिखाई देगी|

उत्तर प्रदेश भू नक्शा ऑनलाइन कैसे देखे ?

  • सर्वप्रथम लाभार्थी को यूपी भू नक्शा / UP bhunaksha  की आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करना होगा। Official Website पर विजिट करने के बाद आपके सामने मुख्य पृष्ठ खुल जाएगा।
  • मुख्य पृष्ठ पर आपको अपना जिला, तहसील, गांव का चयन करना है। अब आपको इस चयनित चित्र का नक्शा दिखाई देगा|
  • हम आपको अपनी जमीन या संबंधित खाताधारक का नाम देखने के लिए अपने फोन नंबर का चयन करना है|
  • इसके बाद आपको खाता संख्या दिखाई देगी, जिस खाता को आप देखना चाहते हैं उस खातेदार के नाम का चयन करें।
  • इस प्रकार आप अपना भूमि के नक्शे को डाउनलोड या प्रिंट आउट भी ले सकते हैं।

भू नक्शा डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आवेदक को यूपी भू नक्शा की Official Website पर जाना होगा।
  • फिर आपके सामने वेबसाइट का मुख्यपृष्ठ खुल जायेगा।
  • अब अपने जिले का करें।
  • फिर अपने तहसील का चयन करना होगा।
  • उसके बाद अपने गांव का चयन करें।
  • नक्शा दिखने के बाद, उसमे अपने खेत/प्लॉट के खसरा नंबर पर क्लिक करें।
  • क्लिक करने के बाद आपको अपनी जमीन का भू नक्शा वेबसाइट पे दिख जायेगा,|
  • जिसे आप डाउनलोड या प्रिंट कर सकते हैं।

राजस्व ग्राम खतौनी का कोड कैसे जानें

  • सबसे पहले आवेदक को यूपी भूलेख की Official Website पर जाना होगा।
  • फिर आपके सामने वेबसाइट का मुख्यपृष्ठ खुल जायेगा।
  • पोर्टल के मुख्यपृष्ठ पर आपको राजस्व ग्राम खतौनी का कोड जाने के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आप अपने जिले, तहसील तथा ग्राम का चयन करें।
  • चयन करने के बाद आपको राजस्व ग्राम खतौनी का कोड दिख जायेगा।

भूखंड/गाटे का यूनिक कोड कैसे जानें

  • सबसे पहले आवेदक को भूलेख पोर्टल की Official Website पर जाना होगा।
  • फिर आपके सामने वेबसाइट का मुख्यपृष्ठ खुल जायेगा।
  • पोर्टल के मुख्यपृष्ठ पर आपको भूखंड/गाटे क्या यूनिकोड जाने  के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आप जनपद चुने तहसील चुने इसके बाद आपके सामने राजस्व ग्राम की सूची खुल जाएगी। जंहा आपको अपने ग्राम का चयन करना होगा।
  • चयन करने के बाद आपको भूखंड/गाटे का यूनिक कोड दिख जायेगा।

भूखंड/गाटे के वाद ग्रस्त होने की स्थिति कैसे जानें

  • सबसे पहले आवेदक को राजस्व परिषद उत्तर प्रदेश की Official Website पर जाना होगा।
  • फिर आपके सामने वेबसाइट का मुख्यपृष्ठ खुल जायेगा।
  • पोर्टल के मुख्यपृष्ठ पर आपको भूखंड/गाटे के वाद ग्रस्त होने की स्थिति के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आप अपने जिले, तहसील तथा ग्राम का चयन करें।
  • चयन करने के बाद आपको भूखंड/गाटे के वाद ग्रस्त होने की स्थिति दिख जायेगा।

भूखंड/गाटे के विक्रय की स्थिति कैसे जानें

  • सबसे पहले आवेदक को राजस्व परिषद उत्तर प्रदेश की Official Website पर जाना होगा।
  • फिर आपके सामने वेबसाइट का मुख्यपृष्ठ खुल जायेगा।
  • पोर्टल के मुख्यपृष्ठ पर आपको भूखंड/गाटे के विक्रिए की स्थिति जाने के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आप अपने जिले, तहसील तथा ग्राम का चयन करें।
  • चयन करने के बाद आपको भूखंड/गाटे के विक्रिये की स्थिति दिख जायेगा।

महत्वपूर्ण लिंक

यहाँ  जिलों की सूची देखें यहां क्लिक करें
यहाँ  तहसील की सूची देखें यहां क्लिक करें
यहाँ  परगना की सूची देखें यहां क्लिक करें
यहाँ  राजस्व ग्राम सार्वजनिक संपत्ति रजिस्टर देखें यहां क्लिक करें

यूपी भूलेख मोबाइल ऐप डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आप अपने मोबाइल पर गूगल प्ले स्टोर खोलें।
  • इसमें आपको सर्च बॉक्स में उत्तर प्रदेश भूलेख पोर्टल लिखना है।
  • इसके बाद आपके सामने बहुत से एप की सूची आजायेगी।
  • इस सूची में सबसे ऊपर वाले विकल्प पर क्लिक करें।
  • अब इन्टॉल का बटन पर क्लिक करें।
  • इस प्रकार से आप अपने फ़ोन पे यू पी भूलेख मोबाइल ऐप डाउनलोड कर पाएंगे।

भूमि प्रकार सूची- Type of Lands

भूमि प्रकार उत्तर प्रदेश में भूमि प्रकार का विवरण भूमि प्रकार का कोड(गाटा यूनिक कोड का 15-16 अंक)
1 ऐसी भूमि, जिसमें सरकार अथवा गाँवसभा या अन्य स्थानीय अधिकारिकी जिसे1950 ई. के उ. प्र. ज. वि.एवं भू. व्य. अधि.की धारा 117 – क के अधीन भूमि का प्रबन्ध सौंपा गया हो , खेती करता हो । 11
1-क भूमि जो संक्रमणीय भूमिधरों केअधिकार में हो। 12
1क(क) रिक्त 13
1-ख ऐसी भूमि जो गवर्नमेंट ग्रांट एक्ट केअन्तर्गत व्यक्तियों के पास हो । 14
2 भूमि जो असंक्रमणीय भूमिधरो केअधिकार में हो। 21
3 भूमि जो असामियों के अध्यासन या अधिकारमें हो। 31
4 भूमि जो उस दशा में बिना आगम केअध्यासीनों के अधिकार में हो जब खसरेके स्तम्भ 4 में पहले से ही किसी व्यक्तिका नाम अभिलिखित न हो। 41
4-क उ.प्र. अधिकतम जोत सीमा आरोपण.अधि.अन्तर्गत अर्जित की गई अतिरिक्त भूमि -(क)जो उ.प्र.जोत सी.आ.अ.के उपबन्धो केअधीन किसी अन्तरिम अवधि के लिये किसी पट्टेदार द्वारा रखी गयी हो । 42
4-क(ख) अन्य भूमि । 43
5-1 कृषि योग्य भूमि – नई परती (परतीजदीद) 51
5-2 कृषि योग्य भूमि – पुरानी परती (परतीकदीम) 52
5-3-क कृषि योग्य बंजर – इमारती लकड़ी केवन। 53
5-3-ख कृषि योग्य बंजर – ऐसे वन जिसमें अन्यप्रकर के वृक्ष,झाडि़यों के झुन्ड,झाडि़याँ इत्यादि हों। 54
5-3-ग कृषि योग्य बंजर – स्थाई पशुचर भूमि तथा अन्य चराई की भूमियाँ । 55
5-3-घ कृषि योग्य बंजर – छप्पर छाने की घास तथा बाँस की कोठियाँ । 56
5-3-ङ अन्य कृषि योग्य बंजर भूमि। 57
5-क (क) वन भूमि जिस पर अनु.जन. व अन्य परम्परागत वन निवासी (वनाधिकारों की मान्यत्ाा) अधि. – 2006 के अन्तर्गत वनाधिकार दिये गये हों – कृषि हेतु 58
5-क (ख) वन भूमि जिस पर अनु.जन. व अन्य परम्परागत वन निवासी (वनाधिकारों की मान्यत्ाा) अधि. – 2006 के अन्तर्गत वनाधिकार दिये गये हों – आबादी हेतु 59
5-क (ग) वन भूमि जिस पर अनु.जन. व अन्य परम्परागत वन निवासी (वनाधिकारों की मान्यत्ाा) अधि. – 2006 के अन्तर्गत वनाधिकार दिये गये हों – सामुदायिक वनाधिकार हेतु 60
6-1 अकृषिक भूमि – जलमग्न भूमि । 61
6-2 अकृषिक भूमि – स्थल, सड़कें, रेलवे,भवन और ऐसी दूसरी भूमियां जोअकृषित उपयोगों के काम में लायी जाती हो। 62
6-3 कब्रिस्तान और श्मशान (मरघट) , ऐसेकब्रस्तानों और श्मशानों को छोड़ करजो खातेदारों की भूमि या आबादी क्षेत्र में स्थित हो। 63
6-4 जो अन्य कारणों से अकृषित हो । 64
7 भूमि जो असामियों के अघ्यासन या अधिकारमें हो। 71
9 भूमि के ऐसे अध्यासीन जिन्होने खसरे के स्तम्भ 4 में उल्लिखित व्यकि्त की सम्मतिके बिना भूमि पर अधिकार कर लिया हो। 91

शिकायत पंजीकरण कैसे करें

  • सबसे पहले आवेदक को उत्तर प्रदेश भूलेख की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद वेबसाइट का होम पेज खुल कर आएगा।
  • मुख्या पृष्ठ पर शिकायत पंजीकरण  के लिंक पर क्लिक करें।
  • अब आपके सामने नए पेज में एक फॉर्म खुलकर आएगा जिसमे की आपको जरूरी जानकारी आपको दर्ज करनी होगी।
  • इसके बाद सबमिट के बटन पर क्लिक करें।
  • इस प्रक्रिया से आप अपनी शिकायत का ऑनलाइन पंजीकरण कर पाएंगे।

शिकायत की स्थिति कैसे जानें

  • तत्पश्चात वेबसाइट का नया पेज खुलेगा जिसमे आपको मिला हुआ रेफरेंस नंबर दर्ज करना होगा।
  • दर्ज करने के बाद सर्च के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार से आप कंप्यूटर पर अपनी शिकायत की स्थितिदेख पाएंगे।

Contact Information

हमने अपने इस लेख में यूपी अपनी भूमि का सारा ब्योरा से संभन्ध रखने वाली सभी महत्वपूर्ण जानकारी आपको प्रदान कर दी है। भूलेख का सही मायने में अर्थ होता है जमीन का पूरा विवरण| इसके बाद भी यदि आप अभी भी किसी प्रकार की समस्या हो रही है तो आप अपनी समस्या को ईमेल से भेज कर सकते हैं। या तहसील ऑफिस में भी संपर्क कर सकते हैं। ईमेल आईडी bhulekh-up@gov.in है।

  • Computer Cell Board Of Revenue Lucknow, Uttar Pradesh
  • Email Id bhulekh-up@gov.in
  • Phone Number: 0522-2217145

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top